छत्तीसगढ़ ⁄ राजनांदगांव हवा की दिशा ने बदला मौसम का तेवर

 छत्तीसगढ़   ⁄   राजनांदगांव

हवा की दिशा ने बदला मौसम का तेवर

मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम हो गरी है। इस कारण 17 मार्च को मौसम शुष्क रहने की संभावना जताई गई है।

राजनांदगांव। हवा की दिशा में फिर से बदलाव हो गया है। बुधवार को उत्तर-पश्चिम से हवा चली। गुरुवार से दक्षिण दिशा से हवा आने की संभावना है। इस कारण गर्मी बढ़ने के बजाय थोड़ी कम हो सकती है। मौसम विभाग का अनुमान सटीक रहा तो होली के दिन भी वातावरण में हल्की ठंडकता रह सकती है। इस बीच बुधवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। एक दिन पहले यह 39 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया था। मार्च के अंतिम दिनों में लू जैसी स्थिति निर्मित होने की आशंका जताई जा रही है।

फाल्गुन माह में मौसम में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। दिन का तापमान अभी से 39 डिग्री से पार हो चुका है। इस बीच हवा की दिशा में लगातार बदलाव के कारण बुधवार को तेज धूप के बीच तापमान में थोड़ी कमी भी आई। मौसम विभाग ने सप्ताहभर पहले अनुमान सलगाया था कि 15 से 18 मार्च के बीच तापमान में बढ़ोतरी होगी, लेकिन हवा की दिशा ने अनुमान में भी बदलाव ला दिया है। गुरुवार को तापमान में थोड़ी कमी आने की संभावना जताई गई है।

आज फिर बदलेगी दिशा

मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम हो गरी है। इस कारण 17 मार्च को मौसम शुष्क रहने की संभावना जताई गई है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान में वृध्दि का ट्रेंड रहने की रह सकता है। परंतु इसमें विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के अनुसार चूंकि 18 मार्च को दक्षिण छत्तीसगढ़ में दक्षिण से हवा आने की संभावना है। इसके कारण दक्षिण छत्तीसगढ़ में 18 मार्च को तापमान में गिरावट आ सकती है। जबकि उत्तर छत्तीसगढ़ में उत्तर-पश्चिम से हवा का आगमन जारी रहने के कारण अधिकतम तापमान में वृद्धि का ट्रेंड भी जारी रहने की संभावना जताई गई है।

अभी से लू जैसी स्थिति की चेतावनी

बुधवार को राजनांदगांव का तापमान प्रदेश के अन्य प्रमुख शहरों की तुलना में सबसे कम रहा। 38 डिग्री के साथ तापमान सामान्य से चार डिग्री ज्यादा दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में लगभग सभी क्षेत्रों में अधिकतम तापमान, सामान्य से 3-5 डिग्री सेल्सियस अधिक है । इसलिए यहां अभी लू जैसे स्थिति निर्मित हो सकरी है।

मध्य छत्तीसगढ़ में अनेक स्थानों पर अभी अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच गया है। इसमें रायगढ़ सर्वाधिक 39.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वैसे मध्य छत्तीसगढ़ में मार्च के तीसरे सप्ताह में ही अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाता है। बहुत कम अवसर आया है कि अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस पहुंचता हो। लेकिन वृद्धि का ट्रेंड ऐसे ही बना रहा तो पिछले 10 वर्षों का रिकार्ड भी टूट सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.